मोटी फीस वसूलने पर पालक संघ ने फीस नहीं देने का एलान किया

6
69
फीस नियामक आयोग

रायपुर में  मोटी फीस वसूलने के लिए स्कूल पलकों पर स्कूल प्रागण से महंगी किताबे व ड्रेस खरीदने का दबाव बना रहे है | इससे तंग आकर पालक संघ ने निजी स्कूलों को फीस नहीं देने का एलान किया है | छत्तीसगढ़ पालक संघ के प्रदेश अध्यक्ष नज़रुल खान व रायपुर जिला अध्यक्ष ने एक संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में कहा की लोक शिक्षण संचनालय की रिपोर्ट से साफ़ है की निजी स्कूल हर वर्ष किताबों का प्रकाशन बदलकर नयी किताबे खरीदने के लिए पालकों को बाध्य कर देते हैं | पालक संघ ने डी. ई. ओ. से सभी स्कूलों में जाँच कराने की मांग की है ताकि बच्चो को निजी स्कूलों में निशुल्क किताबे उपलब्ध  कराकर पढाई कराइ जाए | पालक संघ की यह भी मांग है की अगर फीस न देने पर स्कूल से बच्चों को निकला जाता है तो इस अव्यवस्था के लिए प्रदेश सरकार ज़िम्मेदार होगी |

सोमवार को पालक संघ का छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भ्रष्ट जिला शिक्षा अधिकारी का घेराव। पालक संघ की महिला पालक और बच्चे खुद पूछेंगे उक्त अधिकारी से सवाल जवाब।

फीस नियामक आयोग की जगह फीस विनियामक कमिटी होना चाहिए

फीस विनियामक कमिटी की मांग भी करनी चाहिए..ताकी सभी निजी स्कूलों की फीस 1 बराबर होनी चाहिए.

पालक संघ फीस नियामक आयोग का विरोध करता है क्योंकि शिक्षा के अधिकार और राज्य शासन के आदेश में फीस तय करने का अधिकार स्कूल को बिलकुल नहीं है ये अधिकार स्कूल की पालक समिति को है और इसका चयन उस स्कूल के पालको में वोट  से होनी चाहिए ।

फीस नियामक आयोग एक प्रकार का पालक संघ व पालकों के साथ छलावा है जब देखा कि पालक संघ ने स्कूल पालक समिति विधिवत् रूप से बनाने की मुहिम तेज़ कर दी है जिससे स्कूलों की फीस पालक तय करेंगे और पालकों को अनाप-शनाप फीस से राहत मिलने वाली है और निजी स्कूलों व अन्य जुड़े लोगों की मोटी कमाई छिनने वाली है तब फीस नियामक आयोग नाम की एक साजिश को जन्म दिया गया जिससे पालकों से वह अधिकार छीना जा सके उनकी कमाई पर कोई फर्क न पड़े और उनका गोरख धंधा यूंही चलता रहे। पालक संघ के मौजूदा आंदोलन मे कार्यकर्ताओं को किसी भी शिकायत के संबंध मे नोडल अधिकारी, ज़िला शिक्षा अधिकारी, स्कूल शिक्षा सचिव, शिक्षा मंत्री, कलेक्टर, बाल अधिकार संरक्षण आयोग, मुख्य सचिव, मुख्यमंत्री और राज्यपाल को शिकायत करनी होती है फीस नियामक आयोग बनने के बाद पालक संघ को एक विभाग से और लडना होगा क्योंकि भ्रष्टाचार हर डिपारटमेट मे है फीस नियामक आयोग में भी होगा यही कारण है कि पालक संघ फीस नियामक आयोग का विरोध करता है।

6 COMMENTS

  1. Whoh this weblog is wonderful i really like studying your posts. Keep up the great paintings! You already know, lots of individuals are searching around for this information, you can help them greatly.

  2. hi!,I love your writing very so much! proportion we communicate extra about your post on AOL? I need an expert on this area to solve my problem. Maybe that’s you! Taking a look forward to peer you.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here