फ़ीस रेगुलेशन एक्ट के लिए आंदोलन का आगाज़

4
85
फ़ीस रेगुलेशन एक्ट

शहर के निजी स्कूलों में बढ़ाई जा रही फीस के  विरुद्ध इस रविवार हस्ताक्षर अभियान चलाया गया |  अभिभावकों द्वारा बनाये गए संगठन इंदौर  पेरेंट्स एसोसिएशन  के बैनर तले यह अभियान चलाया गया | सर्वप्रथम माँ अहिल्या की मूर्ति पर माल्यार्पण किया गया, उसके पश्च्यात लोगो ने विरोध स्वरुप हस्ताक्षर किये और राह चलते लोगो से भी विरोध स्वरूप हस्ताक्षर  लिए गए  |

ज्ञात हो कि पिछले रविवार को भी इसी तरह के विरोध प्रदर्शन के तहत मुख्यमंत्री के नाम पोस्टकार्ड लिख-कर फ़ीस बढ़ाने  वाले स्कूलों की मनमानी रोकने की गुहार लगाई गई थी |

मध्यप्रदेश में प्राइवेट स्कूलों की फ़ीस को लेकर कोई नियम  है | वे हर साल फ़ीस  बढ़ा देते है | कई स्कूल तो ५०% तक फ़ीस में बढ़ोतरी कर देते हैं | बार बार स्कूल बदलना पेरेंट्स के लिए मुश्किल होता है | इस मनमानी के खिलाफ इंदौर पेरेंट्स एसोसिएशन ने अभियान चला रखा है, जो कि अब आंदोलन का रूप ले रहा है |

इंदौर पेरेंट्स  एसोसिएशन के अध्यक्ष अनुरोध जैन ने बताया कि सेंट पॉल स्कूल, प्रोग्रेसिव एजुकेशन, एनडीपीएस, चोइथराम इंटरनेशनल,  एडवांस एकेडमी, सेंट रेफेल्स जैसे कई स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक इस अभियान में शामिल हुए है |

मध्यप्रदेश में फ़ीस रेगुलेशन एक्ट पिछले ७ सालों से लंबित है एवं इस पर किसी भी तरह की कार्यवाही करने में मध्यप्रदेश सरकार अब तक असफल रही है | इस संदर्भ में कई तर्क सुनने को मिलते है किसी का कहना है इसमें सरकार की मिली भगत है, कोई कहता है मुख्यमंत्री शिक्षा माफियाओ के दबाव में है |

अगर अब भी सरकार प्राइवेट स्कूलों की मनमानी पर रोक लगाने में असफल रहती है, तो हम सिर्फ यही कह सकते है कि इसकी बहुत बड़ी कीमत अभिभावकों को चुकानी पड़ेगी | इससे सरकार पर से लोगो का विश्वास उठने लगेगा एवं वे सरकार से किसी भी तरह की उम्मीद रखना बंद कर देंगे |

जय हिन्द

4 COMMENTS

  1. Parents take sometime off to join the movement.. better late then never.. future parents are also lined up to face similar condition…

  2. It’s truly very complex in this full of activity life to listen news on Television, therefore I simply
    use internet for that reason, and take the newest information.

  3. Private schools.. please stop hike fee in such a rate even for a second class student.. I an hardly able to provide best education for my child for the coming session.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here